September 26, 2020
आमिर-खान-और-सनी-देओल

आमिर खान और सनी देओल ने कभी साथ काम नहीं किया है, वजह सुनकर आप हैरान हो जाएंगे!

आमिर खान और सनी देओल का झगड़ा और तीसरे का फायदा

Advertisement

आमिर खान और सनी देओल एक साथ फिल्म में काम नहीं करते है- इस बॉलीवुड इंडस्ट्री से कई लोग जुड़े हुए हैं। दोस्ती, प्यार, गुस्सा, घृणा, ईर्ष्या जैसे सभी प्रकार के रिश्ते उनके बीच स्थापित होते हैं। फिल्में उनके बीच झगड़े का कारण बनती हैं, लेकिन कभी-कभी वही फिल्म उन्हें साथ लाने का काम करती है।

बॉलीवुड में ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है। जो बहुत अच्छे दोस्त थे और जब फिल्में एक साथ आईं, तो प्रतिष्ठा और विवाद के कारण दोनों में दुश्मनी हो गई और फिर से सब कुछ भूलकर फिल्मों में उन्होंने एक साथ काम भी किया।

इसी तरह होता है। यह अमिताभ शत्रुघ्न से सलमान शाहरुख तक चल रहा है। दो सुपरस्टार मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान और पंजाब दा पुत्तर सनी देओल के बीच कुछ ऐसा ही हुआ।

ऐसा हुआ कि अगले 26 सालों में आमिर खान ने कभी सनी देओल के साथ फिल्मों में काम नहीं किया। तो ऐसा हुआ,

90 के दशक में, प्रसिद्ध निर्देशक यश चोपड़ा फिल्म ‘डर’ पर काम कर रहे थे। यशजी ने सबसे पहले आमिर खान से इस फिल्म के लिए पूछा। आमिर खान को फिल्म की कहानी बहुत पसंद आई। वह इस फिल्म में काम करने के लिए तैयार थे।

वह सिर्फ फिल्म के क्लाइमेक्स में एक छोटा सा बदलाव चाहते थे। सिन यह था कि सनी देओल और आमिर खान दोनों के बीच लड़ाई होगी। आमिर खान सनी देओल को दो बार चाकू मारेंगे और नायिका जूही चावला को एक बोट में समंदर में लाया जाएंगा।

READ | बॉलीवुड की ये प्रसिद्ध अभिनेत्रियाँ शाही परिवार से हैं

इधर सनी को होश आयेंगा और वह छेदा हुआ चाकू निकाल देगा, घाव को कपड़े से बांध देगा, और बोट पर आकर आमिर को मार देगा। लेकिन यह क्लाइमेक्स आमिर को पसंद नहीं था।

आमिर का यह कहना था कि अगर मैंने सनी देओल को दो बार चाकू से मारा, तो सनी में इतनी ताकद नहीं होंगी की वह बोट पर चढ़कर मुझे मारे।

यह सिन परफेक्ट नहीं है। क्या लोग सोचेंगे कि यह सच है? यश चोपड़ा ने आमिर खान की बात सुनी। उन्होंने कहा, “एक मिनट रुकिए। मैं सनी देओल के साथ भी इस बात पर चर्चा करूंगा और फिर हम मिलकर सही निर्णय लेंगे।”

फिर यश चोपड़ा सनी देओल के पास गए। सनी देओल उस समय बड़े सुपरस्टार थे। यशजी ने सनी देओल को आमिर खान की बात बताई, कि आमिर खान का कहना है कि जब मैंने उन्हें दो बार चाकू से मारा, तो सनी में इतनी ताकत कैसे हो सकती है कि वह मुझे मारने के लिए सीधे बोट पर आ जाए।

सनी देओल को बहुत हँसी आई और कहा, “फिल्म में ही क्या, अगर अभी आमिर खान ने मुझे दो बार चाकू से मारा, फिरभी मुझमे उठने और उसे मारने की ताकत होगी।” आमिर खान को जब यह बात पता चली तो वह बहुत नाराज हुए। आमिर को इतना गुस्सा आया की आमिर ने फिल्म में काम करने से मना कर दिया।

यह भूमिका बाद में शाहरुख खान के पास चली गई। शाहरुख, जो उस समय नए थे, और काम की जरूरत थी। उन्होंने भूमिका को वैसे ही स्वीकार कर लिया जैसे भूमिका थी। शाहरुख खान ने उस भूमिका में अपनी पूरी जान लगा दी।

यश चोपड़ा शाहरुख की भूमिका से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने पूरा फोकस उस “डर” फिल्म के शाहरुख की भूमिका पर किया। जब फिल्म रिलीज हुई, तो सनी देओल ने देखा कि फिल्म में शाहरुख की भूमिका को उनसे ज्यादा महत्व दिया गया है। तब सनी देओल भी नाराज हो गए और फिर कभी सनी ने यशराज फिल्म्स के साथ एक भी फिल्म नहीं की।

हुआ ऐसा की, आमिर खान ने “डर” और सनी देओल ने यशराज कैंप छोड़ दिया और शाहरुख को इन दोनों के बीच में फायदा हुआ। और शाहरुख की सफलता में यशराज का कितना बड़ा योगदान है? आप तो जानते ही हैं।

हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको यह पोस्ट कैसी लगी, हम आपके लिए ऐसे मनोरंजक पोस्ट लेकर आते रहते हैं। इस पोस्ट को लाइक और शेयर करना न भूलें। यह हमें और अधिक पोस्ट लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है।

READ | Akshay was deemed ‘gay’ by his mother-in-law Dimple

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *